Gusse को कैसे Control करे?

अगर आप हर छोटी छोटी बातों में Gussa करते हैं. तो यह पोस्ट सिर्फ आपके लिए ही है. कि कैसे अपने Gusse को कैसे Control में करे? जहां तक हमने देखा है. कई सारे लोग छोटी-छोटी बातों में ही अपने Gusse का आपा खो देते हैं. और वे खुद को और अपनों को नुकसान पहुंचाते हैं. तो कैसे करें इस Gusse को Control.

क्या कभी आप ने “Angry Bird” movie देखी है? वैसे तो यह बच्चों की movie है. लेकिन इसमें हम बड़ों के लिए भी एक सीख दी गयी है. इस movie में मुख्य किरदार बहुत ही गुस्सैल (Angry) था. और इस कारण ही वह birds की दुनिया से दूर समुंद्र के किनारे घर बना कर रहता था.

जब वह अपने Gusse पर नियंत्रण करना सीख जाता है. तो वह उस दुनिया का hero बन जाता है. movie में यह सीख मुख्य रूप से दी गयी है. कि Gussa किसी भी चीज का हल नहीं होता है.

यह बात सच है कि Gussa एक सामान्य भावना है. और यह व्यक्ति की बुनियादी भावनाओं (Basic emotions) में से एक है. यह व्यक्ति की एक Physical response है. अगर ये कहें कि Gussa व्यक्ति की खुशी और गम की तरह ही एक भावना है तो गलत नहीं होगा. लेकिन कभी–कभी किसी का गुस्सा इस हद तक बढ़ जाता है कि वह खुद की जिंदगी और दूसरों की खुशियों पर असर डालने लगता है.

बहुत लोग ऐसे भी होते है जिन्हें गुस्सा तो आता है. मगर यह मानने को तैयार नहीं होते की वह Angry के है. जबकि सच यह होता है कि जब उन्हें गुस्सा आता है. तो वह Out of Control हो जाते है. ऐसे में वह जिन्हें प्यार करते है उन्हीं को नुकसान पहुचाने लगते है. हम में से बहुत कम लोग ही ऐसे होते है जो यह मानने को तैयार होते है कि उनका स्वभाव गुस्सैल है.

आज मैं आप से अपने गुस्से को पहचानने के Signs तथा उनसे कैसे निपटा जाएँ, इसी विषय में बाते करूंगी.

गुस्सा पहचानने के कुछ Signs –

जीवन केवल खुशियों का नाम नहीं है. इसमें खुशियों के साथ परेशानियां भी आती रहती है. ऐसे में कठिन परिस्थितियों (Circumstances) से मुह मोड़ लेने में समझदारी नही है. बल्कि अपने गुस्से की आंच से अपने रिश्तों को बचाने में समझदारी है. गुस्से के कुछ ऐसे साफ Sings होते है जिससे यह पता चलता है कि हम गुस्से में है-

• धैर्य की कमी.
• गाली देना.
• सामने वाले को नीचा दिखाना.
• चिड़चिड़ाना.
• हर चीज के लिए दुसरे को दोषी ठहराना.
• गुस्सा होने पर काम करना बंद कर देना या पीछे हट जाना.
• लोगो का आप से बचने की कोशिश करना.
• पत्नी बच्चों और रिश्तेदारों का आप से बात करने में डरना.

इसे आप एक प्रकार से सामान्य लक्षण मान सकते है. लेकिन इन सब के अलावा भी गुस्से के बहुत सारे Sings हो सकते है. हमारे आस–पास के लोगो. दोस्तों. रिश्तेदारों या फिर खुद में भी इस तरह के लक्षण हो सकते है. पर इनसे किसी भी प्रकार की शर्मिंदगी नहीं होनी चाहिए बल्कि इस समस्या का समाधान ढूढना चाहिए.

क्या आप जानना चाहते हैं-

इसलिए अगर लगता है कि आपको गुस्सा आता है. तो इसमे आपको खुद ही पहल करनी पड़ेगी. अब सवाल यह उठता है कि कैसे लाएं अपने गुस्से को काबू में-

निम्नलिखित उपाय से गुस्से को काबू में करे –

How to control anger techniques & tips-

ज्यादातर लोग अपने गुस्से को दोस्तों. रिश्तेदारों से छुपा ले जाते है लेकिन इनके गुस्से का पता इन लोगों का अपनों प्रियजनों के साथ किए गए व्यवहार से चलता है. इनका गुस्सा के दर्शन आप तब कर सकते है जब ऐसे लोग उन पर गुस्सा होते है जिनसे ये प्यार करते है. अगर आप भी इतने गुस्से वाले इन्सान है. तो कुछ आसान से उपायों को अपनाकर आप गुस्से को झट गायब करके अपने रिश्ते को सुन्दर बना सकते है.

10 तक Number गिने –

जब आप को लगे कि आप गुस्से में है. तो सबसे पहले कोई प्रतिक्रिया करने के वजाय शान्त हो जाएं और गहरी सांस लें. इससे आपको गुस्से पर Control करने में मदद मिलेगी और एक बात जो मैं आप से कहने जा रही हूँ, हो सकता है आप को बचकाना लगे और वो यह है कि 10 तक नंबर गिने. इससे आपको सोचने – समझने का थोड़ा वक्त मिल जायेगा.

एक शांत Break लें –

अगर आप गुस्से में बेकाबू हो जाते है. तो सबसे जरुरी है ऐसी परिस्थितियों में जब आप को लगे कि गुस्सा बहुत ज्यादा आ रहा है. तब आप किसी भी बहस में शामिल न हो क्योंकि हो सकता है कि आप अपना आपा खो दे. इसलिए अच्छा होगा कि आप उस जगह से हट जाए एक छोटा सा break ले ठंडा पानी पिए और थोडा टहल ले. इस तरह से जब आप और दूसरा व्यक्ति शांत हो जाएं तब अपने चर्चा को दुबारा शुरू कर सकते है.

पहचानें गुस्से का कारण –

गुस्से से Deal करने के लिए सबसे जरुरी होता है. यह पता लगाना कि किन परिस्थितियों के कारण गुस्से को बढ़ावा मिला है. परिस्थितियों और कारणों को अच्छे से समझे और उससे परेशानियों को दूर करे.

व्यायाम करेगा गुस्से को शांत –

व्यायाम और विश्राम के साथ अपने गुस्से के स्तर को कम करने की कोशिश करें. कुछ exercise जैसे swimming, morning walk और योग से गुस्से को कंट्रोल किया जा सकता है. सुबह की ताजी हवा में प्रकृति के साथ कुछ समय रहना. गहरी सांसे लेना आदि भी मन को सुकून देगा और गुस्से पर काबू पाने में बेहद फायदेमंद रहेगा.

पूरी नींद ले –

कभी–कभी work load के कारण हम ठीक से सो नहीं पाते है जिसके कारण सिरदर्द, तनाव और चिड़ाचिड़ाहट होने लगती है और हम बेवजह दूसरों पर चीखते – चिल्लाते है. इसलिए आप अपने व्यस्त दिनचर्या से 7 घंटे का वक्त सोने के लिए जरुर निकले क्योंकि 7 से 8 घंटे की नींद अच्छे स्वास्थ के लिए आवश्यक होता है.

गुस्सैल स्वभाव इंसान के सारे अरमानों पर पानी फेर देता है. इसलिए अपने गुस्से को दबाएँ नहीं बल्कि अपने गुस्से के कारणों को पहचाने और गुस्से को दूर करने का प्रयास करें. एक बार कोशिश तो करके देखिए फिर आप खुद ही महसूस करेंगे कि गुस्से के गायब होने से रिश्ता कितना सुन्दर बन जाते है.

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.